Loading...
Home / Health & Beauty / वीर्य में खून: किस खतरे का संकेत है ? (Blood In The Semen)

वीर्य में खून: किस खतरे का संकेत है ? (Blood In The Semen)

पुरुषों में सेक्स के बाद वीर्य आना सामान्य है जोकि दूधिया रंग का होता है, अगर वीर्य में रक्त नजर आ रहा है तो ये पुरुषों में होने वाली हिमाटोस्पर्मिया का संकेत हो सकता है। वीर्य हल्का गुलाबी, भूरा या रक्त के धब्बे के साथ आ सकता है। ये बीमारी किसी भी उम्र में हो सकती है मगर अधिकतर ये समस्या 30 से 40 साल या 50 साल के अधिक उम्र के व्यक्ति को होती है जिनमें प्रोस्टेट की समस्या होती है।

कारण

मौजूदा जांच तकनीक के जरिए करीब 85 प्रतिशत लोगों में इस बीमारी का कारण डॉक्टर पता कर लेते हैं। इसका 40 फीसदी कारण संक्रमण होता है। इसके अलावा कैंसर या कोई इलाज भी हो सकता है।

संक्रमण

  • पेशाब का ग्राम पॉज्टिव बैक्टिरिया और ग्राम निगेटिव बैक्टिरिया से  संक्रमण
  • यौन संक्रमण जैसे जेनाइटल हर्पीस , गेनोरिया, कलमाइडिया और ट्राइकोमोनियासिस आदि
  • माइकोबैक्टीरियम टयूबरक्लोसिस
  • स्किस्टोसोमा

सूजन सम्बंधी  स्थिति

  • सेमिनल वेस्क्युलाइटिस  – वेसिकल की सूजन (जो वीर्य का तरल पदार्थ बनाती है)
  • अधिवृषण की एपिडिडाइमैटिस – सूजन
  • प्रोस्टेटाइटिस -प्रोस्टेट ग्रंथि की सूजन
  • मूत्राशय की सूजन- मध्य सिस्टाइटिस , यूसिनोफिलिक सिस्टाइटिस , प्रॉलिफरेटिव  सिस्टाइटिस

कोई इलाज़

  • बवासीर के लिए इंजेक्शन
  • पेनिल (लिंग में ) इंजेक्शन
  • प्रोस्टेट प्रक्रियायें – प्रोस्टेट बायोप्सी, रेडिएशन चिकित्सा, ब्रैकीथेरेपी, माइक्रोवेव थैरपी , प्रोस्टेट के ट्रांसयूरेथ्रल  रिसेक्शन
  • मूत्रमार्ग में इंस्ट्रूमेंटेशन
  • मूत्रमार्ग स्टेंट

व्यावहारिक समस्या

  • अत्यधिक सेक्स या हस्तमैथुन
  • बाधित सेक्स
  • लंबे समय तक सेक्स नही करने पर
  • हिंसात्मक  सेक्स

कैंसर

  • प्रोस्टेट का ट्यूमर, मूत्राशय, मूत्रमार्ग, वृषण रज्जु, अधिवृषण, और वृषण का कैंसर

सामान्य रोग

  • अमिलोइडोसिस
  • रक्तस्राव विकार
  • पुरानी जिगर की बीमारी
  • गंभीर अनियंत्रित उच्च रक्तचाप

कब लें डॉक्टर से परामर्श ?

जब आप वीर्य में रक्त देखें , तो सही निदान के लिए डॉक्टर से मिलना चाहिए। डॉक्टर, आपसे कुछ सवाल पूछेंगें जैसे कि कितनी बार आपने वीर्य में खून देखा और क्या  यह किसी चोट या किसी सेक्स से संबंधित है और   आपको कोई संक्रमण है या नही।  कुछ रक्त परीक्षण और मूत्र परीक्षा करने का भी आदेश दिया जा सकता है।

आपकी उम्र अगर 40 साल से कम  है और, कोई अन्य लक्षण नही है, और यह एक बार या कभी कभी हुआ और फिर बंद गया है, या आपकी  प्रोस्टेट परीक्षा या पुरुष नसबंदी कराने के बाद यदि ऐसा हुआ है, तो आपको विशेषज्ञ परामर्श की जरूरत नहीं है।

हालांकि, अगर आपकी उम्र 40 वर्ष से अधिक है और लगातार या बार-बार लक्षण नज़र आते हैं  तो कुछ परीक्षण और  संभावित कारण का सुझाव दिया जाता है, तो चिकित्सक आपको एक मूत्र रोग विशेषज्ञ (एक विशेषज्ञ जो  मूत्र प्रणाली का  उपचार करता है ) के  पास  जांच के लिए और मूल्यांकन के लिए उल्लेख कर सकते हैं।आपको अल्ट्रासाउंड स्कैन और अपने प्रोस्टेट ग्रंथि की  एक बायोप्सी कराने के लिए कहा जा सकता है।

वीर्य में रक्त के लिए इलाज क्या है?

उपचार वीर्य में रक्त के  मूल कारण पर निर्भर करता है।

कई मामलों में, यदि कोई विशेष कारण का पता नही चला है,तो कोई इलाज की जरूरत नही होती है, और समस्या स्वयं हल हो जाती है।  विशिष्ट उपचार कारण पर आधारित है:

एंटीबायोटिक्स: संक्रमण का इलाज़

सूजन के लिए दवाओं का इस्तेमाल

चोट लगने के प्रबंधन: मामूली चोटों का आराम और निगरानी के साथ इलाज किया जा सकता है। गम्भीर चोटों का रक्तस्राव रोकने के लिए शल्य चिकित्सा की प्रक्रियाओं की आवश्यकता हो सकती है।

अगर  स्थिति गंभीर है जैसे कैंसर या खून का कोई रोग  है तो आपको उचित उपचार के लिए एक विशेषज्ञ के पास भी भेजा जा सकता है।

Source : modasta.com

Comments

comments

Leave a Reply